Jiwan Ki Naiya\ Hari Bhajan

0
50

Jiwan ki naiya karde prabhu ke hawale,prabhu ke hawale,

Lyrics:जीवन की नैया

जीवन की नैया कर्दे प्रभु के हवाले,प्रभु के हवाले,
जीवन की नैया कर्दे प्रभु के हवाले,प्रभु के हवाले,
जैसे वो चाहे वैसे, जैसे वो चाहे वैसे,
इसको संभाले, इसको संभाले,
जीवन की नैया कर्दे प्रभु के हवाले,प्रभु के हवाले,
जीवन की नैया कर्दे प्रभु के हवाले,प्रभु के हवाले,

टन का ना गर्व कीजे यह तो विनसी है,
टन का ना गर्व कीजे यह तो विनसी है,
तू तो है चेतन आत्मा ज्योति अविनाशी है,
ज्योति सागर पिता को दिल मेी बसले, दिल मेी बसले,
रहो मेी भर जाएँगे तेरे उजाले,तेरे उजाले,
जीवन की नैया कर्दे प्रभु के हवाले,प्रभु के हवाले,

पग पग मेी मिलता है प्रभु का इशारा,
इसके सहारे कर्दे स्वाहा तू सारा,
अंबार के सारे तारे आँचल मेी सज़ा ले, आँचल मेी सज़ा ले
मॅन के सरोवर मेी तू कमाल खिला ले कमाल खिला ले,
जीवन की नैया कर्दे प्रभु के हवाले,प्रभु के हवाले,

दाता की दिन कर्दे साक्षात को अर्पण,
मेरे तेरा ना कर तू हो जा समर्पण
तूफान के तोड़ घेरे भाव से निकले, भाव से निकले,
घेरे पतवार काहे चिंता तू पाले, चिंता को पाले,
जीवन की नैया कर्दे प्रभु के हवाले,प्रभु के हवाले,

जीवन की नैया कर्दे प्रभु के हवाले,प्रभु के हवाले,
जीवन की नैया कर्दे प्रभु के हवाले,प्रभु के हवाले,
जैसे वो चाहे वैसे, जैसे वो चाहे वैसे,
इसको संभाले, इसको संभाले,
जीवन की नैया कर्दे प्रभु के हवाले,प्रभु के हवाले,
जीवन की नैया कर्दे प्रभु के हवाले,प्रभु के हवाले