fbpx
Home / Sudhansu Ji Maharaj

Sudhansu Ji Maharaj

Uth naam simar उठ नाम सिमर- Ram Bhajan By Sudhansu ji Maharaaj

Uth naam simar Lyrics: उठ नाम सिमर उठ नाम सिमर, मत सोए रहो, मन अंत समय पछतायेगा जब चिडियों ने चुग खेत लिया, फिर हाथ कुछ ना आयेगा उठ नाम सिमर, मत सोए रहो, मन अंत समय पछतायेगा हास विलास में बीती ये उमरिया, बहुत गई, रही थोड़ी उमरिया जल …

Read More »

Naiya Padi Majhdhaar नैया पड़ी मंझधार – Krishna Bhajan By Sudhansu ji Maharaj

Naiya Padi Majhdhaar Lyrics: नैया पड़ी मंझधार नैया पड़ी मंझधार, गुरु बिन कैसे लागे पार, हरी बिन कैसे लागे पार। नैया पड़ी मंझधार, गुरु बिन कैसे लागे पार, हरी बिन कैसे लागे पार। मैं अपराधी जनम जनम का, मन में भरा विकार। तुम दाता, दुःख भंजना, मेरी करो संभार। गुरु …

Read More »

Karta Rahu Gungaan करता रहूँ गुणगान – Krishna Bhajan By Sudhansu ji Maharaj

Karta Rahu Gungaan Lyrics:करता रहूँ गुणगान करता रहूँ गुणगान, मुझे दो ऐसा वरदान। तेरा नाम ही जपते जपते, इस तन से निकले प्राण॥ मै करता रहूँ गुणगान, मुझे दो ऐसा वरदान। तेरा नाम ही जपते जपते, इस तन से निकले प्राण॥ तेरी दया से हे मनमोहन, मैंने यह नर तन …

Read More »