Bhaje vrajaika mandanam\ Krishna Bhajan

0
175

Bhaje vrajaika mandanam, samasta pap khandanam,

Lyrics:भजे व्रजाइका माँडनम

भजे व्रजाइका माँडनम, समस्ता पाप खंडानम,
स्वाभक्त चिट रंजाणम, सदैव नंद नंदनम,
सूपिँच्छा गुच्छा मस्तकाम, सुनड़ वेणु हस्तकं,
अनांग रंग सागरम, नामामी कृष्णा सागरम.

मनोज गर्व मोचानाम विशाल लॉल लोचानाम,
विधूता गोप शोचानाम नामामी पद्मा लोचानाम,
कररविंदा भूढ़ारम स्मिथवलोका सुंडरराम,
महेंद्रा माना नरणाम, नामामी कृष्णा वारनाम.

कदंब सून्न कुंडलम सुचारू गंदा मंडलम,
व्रजंगा नाका वल्लभं नामामी कृष्णा दुर्लभं
यासोडया समोदाया सगोपाया साननंदया,
युटम सुखाका दयकम नामामी गोपा नायकम.

सदइवा पड़ा पंकाजाम मढ़ीया मानसे निजाम,
दाधन मूटा मलकम, नामामी नंदा बालकम,
समस्ता दोषा शोषानाम, समस्ता लोका पोषानाम,
समस्ता गोपा मानसां, नामामी नंदा लालसम.

भूओ भराव तराकम भवाबदी करना धरकम,
यसोमती कीसोरकम, नामामी चिट चोरकम.
दा गणता काँटा बांगिनम, सदा सदाना संगिनम,
दीने दीने नवम नवम नामामी नंदा संभवाँ.

गुना करम सूखा करम कृपा करम कृपा करम,
सूरद्वी शन्नी कंदनम, नामामी गोपा नंदनम.
नवीना गोपा नागरम नवीना केली लंपटम,
नामामी मेघा सुंड्रम तड़ित प्रभाल सटपटम.

समस्ता गोपा नंदनम, हृुदम बुजैयका मोड़नाम,
नामामी कुंजा मध्यागम, प्रसन्ना भानु शोभानाम.
निकामा कामढ़ायकम दृ गणता चारू सायकम,
रसल वेणु गायकम, नामामी कुंज नायकम.

विदग्धा गोपिका मानो मनोज्ञा तल्पा शाईनाम,
नामामी कुंजा कानाने प्रा वरदा वह्नि पाईनाम.
कीसोरकांति राँचितम, दृगंजाणम सुशोबितम,
गजेन्ड्रा मोक्सा करिणाम, नामामी श्री विहारिनाम.

यधा ताधा यधा ताधा तथैइवा कृष्णा सतकथा,
माया सदइवा गीया थाम ताधा कृपा विधीया ताम.
प्रमाण इकष्ता कड़वयं छा पाठ्या ढीठया यह पुमान,
भवेत सा नंदा नँडणे भावे भावे शू भक्तिमान.