Ambe Tu Hai Jagdembe Kali – Lyrics in HIndi

0
26

Ambe Tu Hai Jagdambe Kaali Lyrics in Hindi


अंबे तू है जगदम्बे काली जय दुरगे खप्पर वाली,
तेरे ही गुण गावे भारती ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती,

Advertisement

तेरे भक्त जनों पर माता भीर पारी है भारी,
दानव दल पर टूट पड़ो माँ करके सिंह सवारी,
तेरे भक्त जनों पर माता भीर पारी है भारी,
दानव दल पर टूट पड़ो माँ करके सिंह सवारी,
सो सो सिंघो सी तू बलसाली है अष्ट भुजाओं वाली,
दुष्टों को तू ही ललकारती,
सो सो सिंघो सी तू बलसाली है अष्ट भुजाओं वाली,
दुष्टों को तू ही ललकारती,
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती,

मा बेटे का है इस जग में बड़ा ही निर्मल नाता,
पूत कपूत सुने है पर ना माता सुनी कुमाता,
मा बेटे का है इस जग में बड़ा ही निर्मल नाता,
पूत कपूत सुने है पर ना माता सुनी कुमाता,
सब पे करुणा वर्साने वाली अमृत वर्साने वाली,
दुखियो के दुखरे निवार्ती,
सब पे करुणा वर्साने वाली अमृत वर्साने वाली,
दुखियो के दुखरे निवार्ती,
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती,

नही माँगते धन और दौलत ना चाँदी ना सोना,
हम तो माँगे मा तेरे चर्नो में एक छोटा सा कोना,
नही माँगते धन और दौलत ना चाँदी ना सोना,
हम तो माँगे मा तेरे चर्नो में एक छोटा सा कोना,
सब की बिग्री बनाना वाली लाज बचाने वाली,
सतियों के सत को संवारती,
सब की बिग्री बनाना वाली लाज बचाने वाली,
सतियों के सत को संवारती,
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती,

अंबे तू है जगदम्बे काली जय दुरगे खप्पर वाली,
तेरे ही गुण गावे भारती ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती,

Advertising
loading...