Shree Maha Lakshmi Chalisa श्री महा लक्ष्मी चालीसा

Shree Maha Lakshmi Chalisa

Lyrics: श्री महा लक्ष्मी चालीसा

जय जय श्री महा लक्ष्मी करू मॅट तव ध्यान
सीत्कज माँ कीजिए निज शिशु सेवक जान
नामो महा लक्ष्मी जाई माता
टेयरो नाम जगत विख्याता
आदि शक्ति हो मत भवानी
पूजत सब नर मुनि ज्ञानी

जगत पालनी सब शुख करनी
निज जान हिट भंडारण भरनी
श्वेत कमाल दल पर तव आसान
मॅट शुशोभित है पद्मासन

स्वेताम्बर आरू स्वेता भूषण
स्वेत ही स्वेत सुसज्जित पुष्पन
सीस च्चात्रा अरी रूप विशला
गले सोहे मुक्तां की माला
सुंदर सोहे कुंचित केशा
बिमल नयन आरू अनुपम भेषा
कमाल नयन सम भुजात तव चारी
सुर्नार मुनि जान हिट शुखकारी

अद्भुत च्चता मॅट तव बानी
सकल विश्वा किन्हो शुख खानी
शनि स्वाभाव मृदुल तव वाणी
सकल विश्वा किन्हो शुख खानी

महालक्ष्मी ध्यान हो मई
पंचतटवा में श्रीष्टि रचाई
जीवा चराचर तुम उजाए
पशु पक्षी नर नारी बनाए

शितितल अगणित प्रीक्षा जमाए
अमित रंग फल फूल सुहए
च्चवि बिलॉक सुरमुनई नर नारी
करें सदा तव जाई जाई कारी

सुर्पति और नरपति ध्यवे
तेरे सांमुख शीश नववे
चरहू वेदन तब यश गाए
महिमा अगम पार नही पाए

जपर कारहू मॅट तुम दया
सोई जाग में धान्या गवाया
पल में राज ही को रंक बना
रंक राव कर बिलमन आओ

जिन घर कराहू मॅट तुम वासा
उनका यश हो विश्वा प्रकाशा